मसरूफ़ियत : ज़िन्दगी से फुर्सत के कुछ पल चुराने की जद्दोजेहेद …

Please follow and like us:
Facebook
Facebook
Instagram
Google+
https://shaiiljoharri.in/2019/07/%e0%a4%ae%e0%a4%b8%e0%a4%b0%e0%a5%82%e0%a5%9e%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%a4-%e0%a5%9b%e0%a4%bf%e0%a4%a8%e0%a5%8d%e0%a4%a6%e0%a4%97%e0%a5%80-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%ab%e0%a5%81%e0%a4%b0%e0%a5%8d/
LinkedIn
YouTube
Follow by Email
RSS

मसरूफ़ियत (Masroofiyat)

लहरों पे चलते चलते, यूँ दूर निकल आये,
अब ठहरे समंदर के साहिल को ढूंढते हैं,
मशरूफ़ियत ने हमको बेबस किया है इतना,
हम ख़ुद की ज़िंदगी के हांसिल को ढूंढते हैं।

नवगीत खोजता था, अंत्याक्षरी का अक्षर,
सब खेलते थे मिलकर, छुपना-छुपाना अक्सर,
हम खेलते थे कम, पर बिगाड़ते थे ज़्यादा,
क्रिकेट का बजट सबमें, बंटता था आधा-आधा,
मिट्टी में खेलकर जो, रहता था साफ सुथरा,
हम झांक कर के खुद में, उस दिल को ढूंढते हैं।
मसरूफ़ियत ने हमको…..

वो कच्ची रसोई के, चूल्हे में आग जलती,
आंटे की लोई माँ के, हांथों में थी मचलती,
सब साथ मिलके लेते, खाने का स्वाद आली,
अब ढूंढती है अक्सर, अपनों को हर एक थाली,
टेबल-चेयर पे हमको, मिलता नहीं है जो, उस
आराम-ए-ज़मीं के हम, फ़ासिल को ढूंढते हैं।
मसरूफ़ियत ने हमको…..

बेरंग सी है होली, बेनूर हर दीवाली,
है ईद, बिना ईदी, क्रिसमस भी लगे खाली,
बचपन जो शाही गुज़रा, नासाज़ हो रहा है,
मेरा आज छुट्टियों का, मोहताज हो रहा है,
रिश्तों से दूर रहकर, मनते हैं पर्व सारे,
आधी सी हर खुशी में, क़ामिल को ढूंढते हैं,
मसरूफ़ियत ने हमको….

निकले थे हम कमाने, दो जून के निवाले,
घर से ही जुदा होकर, घर की ही फिक्र पाले,
जीवन की दौड़ में बस, भागे ही जा रहे हैं,
ना मंज़िलें मयस्सर, रस्ते भगा रहे हैं,
दफ्ना के चाहतों को, मजबूरियां सहेजीं,
ख़ुद क़त्ल करके खुद को, क़ातिल को ढूंढते हैं।
मसरूफ़ियत ने हमको….

शैल जौहरी ‘साहिल’

  • फ़ासिल – जुदा करने वाला
  • क़ामिल – पूरा होना
Please follow and like us:
Facebook
Facebook
Instagram
Google+
https://shaiiljoharri.in/2019/07/%e0%a4%ae%e0%a4%b8%e0%a4%b0%e0%a5%82%e0%a5%9e%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%a4-%e0%a5%9b%e0%a4%bf%e0%a4%a8%e0%a5%8d%e0%a4%a6%e0%a4%97%e0%a5%80-%e0%a4%b8%e0%a5%87-%e0%a4%ab%e0%a5%81%e0%a4%b0%e0%a5%8d/
LinkedIn
YouTube
Follow by Email
RSS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enjoy this blog? Please spread the word :)

error: Content is protected !!